Homai Vyarawalla Biography in Hindi | होमी व्यारावाला जीवनी

Who was Homai Vyarawalla

Today’s Google doodle pays tribute to India’s first woman photojournalistHomai Vyarawalla on her 104th birth anniversary.

  • Who was Homai Vyarawalla ?

Homai Vyarawalla  होमी व्यारावाला भारत की पहली महिला फोटोग्राफर ( India’s first woman photojournalist )  का आज 9 दिसम्बर को  104 वां जन्मदिन  है और गूगल ने होमी व्यारावाला का गूगल डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।  गूगल ने उन्हें “फर्स्ट लेडी ऑफ द लेंस” के तौर पर सम्मानित किया है । आज का गूगल डूडल मुंबई के कलाकार समीर कुलावूर द्वारा बनाया गया है।

गूगल डूगल में आज होमी व्यारावाला, जानें कौन थीं |

Homai Vyarawalla Biography in Hindi
                       image credit- Google

Homai Vyarawalla Biography in Hindi

पूरा नाम/ Full Name            –  होमी व्यारावाला
जन्म /Born                                –  9 दिसम्बर 1913
जन्मस्थान/ Born Place      –  नवसारी, गुजरात, भारत
जीवनसाथी                                – मानेकशॉ व्यारावाला
मृत्यु                                              – 15 जनवरी 2012
राष्ट्रीयता                                      –  भारतीय
शिक्षा                                            – सर जे. जे. स्कूल ऑफ आर्ट
व्यवसाय                                      –  फोटो पत्रकार
पुरस्कार                                   – पदम् विभूषण पुरस्‍कार/  Padma Vibhushan in arts

जन्म ,प्रारंभिक जीवन और शिक्षा 

होमी व्यारावाला की बात करें तो उनका जन्म 9 दिसम्बर 1913 को गुजरात के नवसारी जिले में हुआ था। उनके पिता थिएटर में काम करते थे और उनका ज्यादातर पालनपोषण मुंबई में ही हुआ। होमी को फोटोग्राफी का शौक था और उन्होंने अपने दोस्त मानेकशा व्यारावाला और जे जे स्कूल ऑफ आर्ट से फोटोग्राफी सीखी थी। गुजरात के नवसारी में मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मी व्यारावाला ने 1938 में फोटोग्राफी के क्षेत्र में प्रवेश किया। उस वक्त कैमरा ही अपने आप में एक आश्चर्य कहलाता था। उस पर भी एक महिला का इस क्षेत्र में प्रवेश करना बड़े अचरज की बात थी। उन्होंने 1970 में पेशेवर फोटोग्राफी छोड़ दी थी। सन् 2011 में उन्हें भारत सरकार ने पद्म विभूषण से सम्मानित किया।

सिगरेट पीते हुए जवाहरलाल नेहरू और साथ ही भारत में तत्कालीन ब्रिटिश उच्चायुक्त की पत्नी सुश्री सिमोन की मदद करते हुए एक तस्वीर भारत के प्रथम प्रधानमंत्री की एक अलग ही छवि दर्शाती है। यह तस्वीर भारत की पहली तथा लंबे समय तक भारत की एकमात्र महिला फोटो पत्रकार द्वारा हो गई।

उनकी पहली तस्‍वीर बोम्‍बे क्रोनिकल में प्रकाशित हुई जिसमें उन्‍हें प्रत्‍येक छायाचित्र के लिए एक रुपया प्राप्‍त हुआ। वह अपने पति के साथ दिल्‍ली आ गई और ब्रिटिश सूचना सेवाओं के कर्मचारी के रूप में स्‍वतंत्रता के दौरान के फोटो लिए।

दिूतीय विश्‍व युद्ध के हमले के बाद, उन्‍होंने इलेस्‍ट्रेटिड वीकली ऑफ इंडिया मैगजीन के लिए कार्य करना शुरू किया जो 1970 तक चला। इसमें इनकी श्‍वेत-श्‍याम छायाचित्र हुए। उनके कई फोटोग्राफ टाईम, लाईफ, दि ब्‍लेक स्‍टार तथा कई अन्‍य अन्‍तरराष्‍ट्रीय प्रकाशनों में फोटो-कहानियों के रूप में प्रकाशित हुए।

पिछले 40 वर्षों में एक भी फोटोग्राफ न लेने के बावजूद होमई व्‍याखाला सदैव एक महान विभूति बनी रही तथा उनके द्वारा ली गई तस्‍वीरें नेशनल गैलरी ऑफ माडर्न आर्ट मुंबई तथा अल्काजी फाउंडेशन ने मिलकर वर्ष 2010में प्रदर्शित की। वर्ष 2011 में उन्हें भारत के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पदम् विभूषण पुरस्‍कार से नवाजा गया।

 

होमी व्यारावाला जीवन परिचय हिंदी, Who was Homai Vyarawalla? Google Doodle Pays Tribute to Homai Vyarawalla, Google Doodle,Homai Vyarawalla Biography in Hindi ,Biography , Who is today’s google doodle Celebrity,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *