Hima Das Biography In Hindi
Biography SPORT

हिमा दास का जीवन परिचय | Hima Das Biography In Hindi

असम (भारत )की रहने वाली हिमा दास  आईएएएफ वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के ट्रैक इवेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय  महिला बनी हैं.आइये जानते है Hima Das की जीवनी के बारे में ..Hima Das Biography In Hindi

हिमा दास का जीवन परिचय – Hima Das Biography In Hindi

भारतीय रेसर हिमा दास ने फिनलैंड देश की धरती पर नया इतिहास रच दिया है और आईएएएफ वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैम्पियनशिप  400 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी है।

असम राज्य के किसान परिवार से आने वाली हिमा ने साल 2017 में अपने कोच से दौड़ने की ट्रेनिंग लेना स्टार्ट किया था और बेहद ही कम समय में इन्होंने रेस में महारत हासिल कर ली.

हिमा दास को उसके गाँव में ढिंग एक्सप्रेस  (Dhing Express)के नाम से पुकारा जाता है । वह सामाजिक रूप से भी काफी एक्टिव रहती है और उसका उद्हारण है की उसने अपने गाँव की शराब की दुकानों को हटवाया । हिम दास बहुत ही निडर परवर्ती की जो की कभी भी गलत के खिलाफ बोलने से नही डरती है .जो की आज पुरे देश की रोल मॉडल बन चुकी है ।

दास का जन्म, परिवार और शिक्षा (Birth, Family And Education

Hima Das Biography in Hindi (Age, Height, Winning Pic, Caste, Boyfriend) much more here! हिमा दास का जीवन परिचय | Hima Das Biography In Hindi

 1.पूरा नाम/ Full Nameहिमा दास
 1.जन्म / Born Date9 जनवरी 2000
 1.जन्मस्थान/ Born Place ढिंग, नागांव, असम
 2.पिता के नाम / Father Nameरंजीत दास
 3.माता का नाम / Mother Nameजोनाली दास
 4.पहचान / Occupationधावक, ट्रैक और फील्ड
 5.हाइट / Height  (approx.)in centimeters- 165 cm
meters- 1.65 m
feet inches- 5’ 5”
 6. Weight (approx.)in kilograms– 50 kg
in pounds– 110 lbs
 7.Figure Measurements (approx.)34-26-34
 8.बालों का रंग / Hair colorब्राउन/ Brown
 9.आंखो का रंग / Eye colorBlack
 10.ReligionHinduism / हिन्दू
 11.Caste
 12.रिकॉर्ड (Record)विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप (400 मीटर दौड़ ) 51.46s जीतने वाली प्रथम भारतीय महिला 2018
 13.HobbiesPlaying Football, Shooting, Listening to Music, Watching Movies
 14.Marital StatusUnmarried
 15.Coach/Mentor Nipon Das
 16.Favourite Actress
 17.Favourite Politician
 18.अन्य कला / Other Art
 19.
  • 18 वर्षीय हिमा के परिवार में इनके माता पिता के अलावा इनके पांच भाई और बहन हैं और ये अपने माता पिता की सबसे बड़ी  बेटी हैं.

Hima Das का करियर (Career)

  • हिमा दास का बचपन से ही स्पोर्ट की और झुकाव था ट्रैक में आने से पहले, हिमा फुटबॉल में रुचि रखती थी और वह लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थी।
  • साल 2017 में हिमा की मुलाकात अपने कोच निपुण दास से खेल और युवा कल्याण निदेशालय की और से आयोजित किए गए इंटर-डिस्ट्रिक्ट मीट के दौरान हुई थी.
  • कोच हिमा को अपने गांव से 140 किमी दूर गुवाहाटी में स्थानांतरित करने के लिए दबाव डाला और उसे आश्वस्त किया कि उसके पास एथलेटिक्स में भविष्य है।
  •  शुरू में निपुण ने इन्हें 200 मीटर रेस के लिए तैयार किया था और जैसे जैसे इनका स्टैमिना बढ़ता गया, इन्होंने 200 मीटर की जगह 400 मीटर के ट्रेक पर दौड़ना शुरू कर दिया था.
  • Hima Das scripts history by winning 400m gold in World Jr Athletics Championship

Hima Das Gold Medal List Update 2019

Updates 25 July : हिमा दास ने  2 जुलाई 2019 से 21 जुलाई 2019 तक  विविध प्रतियोगिताओं में 5 बार स्वर्ण पदक हासिल करके देश को गौरवान्वित कर चुकी हैं.

Hima Das Gold Medal Chart In 2019

  • 2 जुलाई 2019 को 200 मीटर की रेस 23.65 सेकंड में पूरी की थी और Poland में Poznan Athletics Grand Prix में स्वर्ण पदक हासिल किया .
  •  7 जुलाई 2019 को उन्होंने पोलैंड में ही कुट्नो एथेलेटिक्स मीट में 200 मीटर की रेस को 23.97 सेकंड में पूरा करके स्वर्ण पदक हासिल किया था,
  • 13 जुलाई  2019 को उन्होंने क्जेच रिपब्लिक में क्लाद्नो एथेलेटिक्स मीट (Kladno Athletics Meet in Czech Republic) में 23.43 सेकंड के साथ 200 मीटर की रेस में स्वर्ण पदक और
  • 17 जुलाई 2019 को टाबोर एथेलेटिक मीट (Tabor Atheletic Meet) में भी 200 मीटर में स्वर्ण पदक जीता था, इस तरह ये उनका इस महीने में पांचवा स्वर्ण पदक हैं.
  • 20 जुलाई 2019 को चेक रिपब्लिक में नोव मेस्टो नाड मेटुजी ग्रैंड प्रिक्स में 400 मीटर रेस 52.09 सेकंड में पूरा करके स्वर्ण पदक जीता ,

2018 हिमा दास द्वारा बनाए गए रिकॉर्ड (Record)

12 July 2018 को फिनलैंड में  हिमा दास ने  वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप ट्रैक कॉम्पिटिशन (IAAF World Under-20 Athletics Championships)में स्वर्ण पदक हासिल किया . इनसे पहले कोई भी भारतीय महिला आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप की 400 मीटर की रेस जीतने में कामयाब नहीं हुई है. इन्होंने 400 मीटर की ये रेस केवल 51.46 सेकेंड में पूरी कर प्रथम स्थान प्राप्त किया.

इन्हें गोल्ड जीतने के बाद उनको पीएम मोदी और हमारे देश के प्रेजिडेंट सहित कई राजनेताओं द्वारा बधाई दी जा रही है और हर कोई अपने ट्विटर अकाउंट में इनकी तारीफ कर रहे हैं. उम्मीद है कि आने वाले समय में हिमा कई और रिकॉर्ड बनाए और हमारे देश कि लिए और मेडल जीते.

हीमा दास  के कथन

“मैं एक सपने को जी रही हूँ” मैं पदक के बारे में सोच कर ट्रेक पर नही उतरी थी मैं केवल सबसे तेज दोड़ने के बारे में सोच रही थीऔर यही वो वजह रही की में gold medal जितने में कामयाब हुई ।

हिमा ने कहा, ‘मैंने अभी कोई लक्ष्य तय नही किया है, जैसे कि एशियाई या ओलम्पिक खेलों में पदक जीतना, मैं अभी केवल इससे खुश हूँ कि मैंने कुछ विशेष हासिल किया है और अपने देश का गौरव बढ़ाया है।’विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर मैं बहुत खुश हूं। मैं सभी देशवासियों और यहां पर मेरा उत्साह बढ़ाने वालों की आभारी हूं।-  हिमा दास’

HIMA DAS 400M HISTORIC RACE!!!

Indian Athletes :HISTORY CREATED 🇮🇳 !
Hima Das 🇮🇳 won India’s First Ever Global Track Medal.
Hima Das won the 400m Title at the IAAF U20 World Athletic Championship by clocking 51.46s.

कौन हैं भारत की नई ‘उड़न परी’ हिमा दास

Tags: Biographies,Biographies of Great personalities in Hindi,Biography in Hindi,Biography of Hima Das,
First Indian Woman IAAF World Under-20 Athletics Championships,Hima Das,Hima Das achievements,Hima Das story in Hindi,Life and journey of Hima Das,Who is the first woman IAAF World Under-20 Athletics Championships gold medalist in India,असम की 18 वर्षीय एथलीट हिमा दास ,Hima Das Historic 400m Run of India Wins Gold in World Championships

JP Pilania
नमस्कार दोस्तों, मैं JP PILANIA, Gyani Dunia का Technical Author & Co-Founder हूँ । Education Qualification - Graduated । मुझे New Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है। मैंने अपनी Blogging Journey 2014 में शुरू की थी ।
https://gyanidunia.com

2 Replies to “हिमा दास का जीवन परिचय | Hima Das Biography In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *