International Women’s Day In Hindi 2018/ अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस

International Womens Day 2018 In Hindi

International Women’s Day In Hindi / अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस हर वर्ष, 8 March को मनाया जाता है। विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर मनाया जाता है। Women Day Celebration In India यानी महिलाओं की आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों का उत्सव मनाने का दिन। इस साल यह 8 मार्च गुरुवार को मनाया जा रहा है।

अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य

8 March 2018  Mahila Diwas मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं की समानता के लिए आवाज उठाना है। इस दिन उन महिलाओं के कार्यों को याद किया जाता है जो महिलाओं के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देती हैं। इस थीम की घोषणा होते ही सोशल मीडिया पर #PressforProgress ट्रेंड करने लगा है। इस थीम का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को उनके अधिकारों के लिए प्रोत्‍साहित करना है।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर विशेष सशक्तिकरण

  • नारी सशक्तिकरण से आशय
  • वर्तमान समाज में नारी की स्थिति
  • नारी सशक्तिकरण हेतु किए जा रहे प्रयास
  • देश की प्रमुख सशक्त नारियां

नारी सशक्तिकरण से आशय:-

स्वतंत्रता एवं समानता की अवधारणा  को लेकर वर्तमान में नारी सशक्तिकरण एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया बन गई है. यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें महिलाओं को पुरुषों के समक्ष उसके प्रति होने वाले सभी प्रकार के भेदभाव को समाप्त करके उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाते हैं ताकि वे अबला न  रहकर आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बन सके | नारी सशक्तिकरण से तात्पर्य महिलाओं को पुरुषो के बराबर वेधानिक, राजनीतिक, शारीरिक, मानसिक, सामाजिक एवं आर्थिक क्षेत्रों में निर्णय एवं सहभागी बनाने की संभवता देता है |

वर्तमान समाज में नारी की स्थिति:-

वैदिक युग में समाज में महिला सशक्तिकरण का स्वर्ण युग था परन्तु वर्तमान काल में बढ़ते शिक्षा सत्र में भी नारी की स्थिति सोचनीय है. महिलाओं के विरुद्ध दिन-प्रतिदिन  बढ़ते अपराध के आंकड़े इस बात की पुष्टि करते है . यदपि आज नारी पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही है फिर भी नारी उत्पीड़न के आकडे बढ़ते जा रहे हैं | संयुक्त राष्ट्र संघ की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय महिलाएं पोषण, साक्षरता व लिंगानुपात तीनो ही क्षेत्रों में अत्यधिक सोचनीय स्थिति में है |

नारी सशक्तिकरण हेतु किए जा रहे प्रयास:-

महिला सशक्तिकरण की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 8 मार्च ,1975 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस से मानी जाती हैं .फिर महिला सशक्तिकरण की पहल 1985 में महिला अंतर्राष्ट्रीय सम्मलेन नैरोबी में की गई. भारत में नारी उत्थान के लिए अनेक प्रकार से कार्य किए जा रहे है जैसे की महिलाओं को  संवैधानिक एवं कानूनी संरक्षण,महिला विकास संबंधी नीतियां.

  1. स्त्री शिक्षा को प्रोत्साहन
  2. राष्ट्रीय महिला आयोग का निर्माण 1990  (National Commission for Women, NCW)
  3. राष्ट्रीय महिला उत्थान नीति 2001
  4. महिला उत्थान योजना
  5. स्वास्थ्य सखी योजना
  6. महिलाओं स्वधार योजना
  7. किशोरी शक्ति योजना
  8. वंदे मातरम योजना
  9. कन्यादान योजना
  10. राजलक्ष्मी योजना

महिलाओ की उपलब्धियों

देश की प्रमुख सशक्त नारियां:-हमारे देश में अनेक ऐसी नारियां हैं जिन्होंने सशक्त महिला का दर्जा प्राप्त किया है जिनमे की
सोनिया गांधी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्रमुख,,वसुंधरा राजे सिंधिया इसी प्रकार ममता बनर्जी ,सुषमा स्वराज, किरण बेदी ,सानिया मिर्जा ,बछेंद्री पाल, साइना नेहवाल आदि महिलाओं के नाम भी सशक्त महिलाओं के रूप में लिए जा सकते हैं

    1. 1848 : सावित्रीबाई फुले ने अपने पति ज्योतिराव फुले के साथ मिलकर भारत के पुणे में महिलाओ के लिये स्कूल खोली. इस प्रकार सावित्रीबाई फुले भारत की पहली महिला शिक्षिका बनी.
    2. 1898 : भगिनी निवेदिता ने महिला स्कूल की स्थापना की.
    3. 1916 : 2 जून 1916 को पहली महिला यूनिवर्सिटी SNDT महिला यूनिवर्सिटी की स्थापना सामाजिक समाज सुधारक धोंडो केशव कर्वे ने सिर्फ पांच विद्यार्थियों के साथ मिलकर की.
    4. 1917 : भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस की एनी बेसेन्ट पहली महिला अध्यक्षा बनी.
    5. 1925 : सरोजिनी नायडू भारत में जन्मी, भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस की पहली अध्यक्षा बनी.
    6. 1927 : आल इंडिया विमेंस कांफ्रेंस (All India Women’s Conference) की स्थापना की गयी.
    7. 1947 : 15 अगस्त 1947 को आज़ादी के बाद सरोजिनी नायडू भारत की पहली महिला गवर्नर बनी.
    8. 1951 : डेक्कन एयरवेज की प्रेम माथुर भारत की पहली कमर्शियल महिला पायलट बनी.
    9. 1953 : विजया लक्ष्मी पंडित यूनाइटेड नेशन जनरल असेंबली की भारत की पहली महिला अध्यक्षा बनी.
    10. 1959 : अन्ना चंडी हाई कोर्ट (केरला हाई कोर्ट) ,भारत की पहली महिला जज बनी.
    11. 1963 : उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री और किसी भी भारतीय राज्य में इस पद पर रहने वाली सुचेता कृपलानी पहली महिला थी.
    12. 1966 : कमलादेवी चट्टोपाध्याय को कम्युनिटी लीडरशिप के लिये रोमन मेग्सय्सय अवार्ड से सम्मानित किया गया.
    13. 1966 : इंदिरा गांधी भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी.
    14. 1970 : कमलजीत संधू एशियाई खेलो में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनी.
    15. 1972 : भारतीय पुलिस दल मे शामिल होने वाली किरन बेदी पहली महिला बनी.
    16. 1979 : मदर टेरेसा को नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया, इसे हासिल करने वाली वह पहली भारतीय महिला नागरिक है.
    17. 1984 : 23 मई को बछेंद्री पाल माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने पहली भारतीय महिला बनी.
    18. 1986 : सुरेखा यादव भारत और एशिया की पहली महिला लोको-पायलट, रेलवे ड्राईवर बनी.
    19. 1989 : न्यायमूर्ति एम्. फातिमा बीवी भारतीय सुप्रीम कोर्ट की पहली महिला जज बनी.
    20. 1992 : प्रिया झिंगन इंडियन आर्मी में शामिल होने वाली पहली महिला कैडेट बनी.
    21. 1999 31 अक्टूबर को सोनिया गाँधी भारतीय विपक्षी दल की पहली महिला नेता बनी.
    22. 2007 : 25 जुलाई को प्रतिभा पाटिल भारत की पहली महिला राष्ट्रपति बनी.
    23. श्रीमती चंदा कोचर राजस्थान के जोधपुर में जन्मी वर्तमान में ICICI Bank की सीईओ और प्रबंध निदेशक
    24. इंद्रा नूयी वर्तमान में पेप्सिको कंपनी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।
    25. साइना नेहवाल (जन्म:१७ मार्च १९९०) भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी वर्तमान में वह दुनिया की शीर्ष वरीयता प्राप्त महिला बैडमिंटन खिलाडी हैं

ये भी पढ़े :–How To Increase Your Will Power – Emotional Power In Hindi

International Women’s Day In Hindi आज हम खुद को आधुनिक कहने लगे हैं, लेकिन सच यह है कि मॉर्डनाइज़ेशन सिर्फ हमारे पहनावे में आया है लेकिन विचारों से हमारा समाज आज भी पिछड़ा हुआ है। आज महिलाएं एक कुशल गृहणी से लेकर एक सफल व्यावसायी की भूमिका बेहतर तरीके से निभा रही हैं। नई पीढ़ी की महिलाएं तो स्वयं को पुरुषों से बेहतर साबित करने का एक भी मौका गंवाना नहीं चाहती। लेकिन गांव और शहर की इस दूरी को मिटाना जरूरी है।

महिला दिवस 2018: इस साल यह है महिला दिवस की थीम

हर साल अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस के दिन के एक थीम निश्चित की जाती है। इस साल इसका थीम #PressForProgress है। इस थीम की घोषणा होते ही सोशल मीडिया पर #PressforProgress ट्रेंड करने लगा है। इसका मुख्य उद्देश्य महिलाओं को उनके अधिकारों के लिए प्रोत्साहित करना है।


Related Search Keyword : Women Day 2018 This year is the theme of Women s Day, International Womens Day 2018 In Hindi, महिला दिवस 2018 की थीम, PressForProgress , महिला दिवस,अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस,विश्व महिला दिवस,अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2018,महिला दिवस 2018, महिला दिवस हिन्दी आलेख,वुमन्स डे,अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस,इंटरनेशनल वुमन्स डे,महिला दिवस विशेष, 8 मार्च अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस,नारी शक्ति, Mahila Diwas,महिला दिवस का इतिहास, Womens Day Hindi,Mahila Diwas India, Womens Day India,Mahila Diwas In Hindi,Womens Day In Hindi, History Of Women’s Day,International Womens Day In Hindi, Women Day Celebration In India,

निवेदन: Friends अगर आपको International Womens Day 2018 In Hindi पसंद आये हो तो हमे Comment के माध्यम से जरूर बताये और इसे अपने Facebook, Whats App Friends के साथ Share जरुर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *