jal pradushan | जल प्रदूषण किसे कहते हैं | जल प्रदूषण के कारण और रोकने के उपाय

नमस्कार दोस्तों इस पोस्ट में हम ( जल प्रदुषण ) jal pradushan के बारे में पड़ने वाले है यदि आप भी जानना चाहते है जल प्रदुषण किसे कहते है, जल प्रदुषण की परिभाषा, जल प्रदुषण के कारण, जल प्रदुषण रोकने के उपाय तो आप बिलकुल सही पोस्ट पर आये है तो आइये शुरू करते है

jal pradushan

( जल प्रदुषण ) jal pradushan

भारत को नदियों का देश कहां जाता है यहां गंगा, ब्रह्मपुत्र, सरस्वती, कावेरी जैसे नदियां बहती है इन नदियों के कारण ही हमारे देश की इतनी उन्नति हो पाई है देश के विकास में इन नदियों का विशेष महत्व है इनके कारण ही हमें पीने के लिये तथा उद्योगों के लिये आवश्यक जल की प्राप्ति होती है

लेकिन कुछ वर्षो से इन नदियों का जल लगातार दूषित होता जा रहा है, पर्यावरण अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान के अनुसार नदियों का 70% जल दूषित हो चुका है

आज पूरे विश्व में जल प्रदूषण की समस्या एक विकट समस्या बन चुकी है इसी प्रकार का जल प्रदूषण बढ़ता रहा तो कुछ समय बाद ऐसा संकट उत्पन्न हो जाएगा कि मानव को पीने के शुद्ध जल भी नहीं मिल पाएगा

समुद्र के जल को छोड़कर लगभग तीन चौथाई जल का उपयोग घरेलू उपयोग, उद्योग धंधों तथा सिंचाई के लिए उपयोग किया जाता है

जनसंख्या में लगातार वृद्धि हो रही है और इस व्यक्ति के साथ साथ ही चलती मांगने भी लगातार करती हो रही है, जल मांग के साथ साथ इसके प्रदूषण में उससे भी ज्यादा वृद्धि हो रही है और यह प्रदूषण शहरों में विशेष रूप से देखने को मिलता है

चल में कुछ पता तो प्राकृतिक रूप से होते हैं लेकिन जब यहां पदार्थ आवश्यकता से अधिक मात्रा में जल में होने पर जल प्रदूषण की भांति व्यवहार करने लगता है

जल के भौतिक, रासायनिक तथा जैविक गुणों में होने वाले अवांशानीय हानिकारक परिवर्तन को जल प्रदूषण कहते हैं

Jal pradushan ke Karan (जल प्रदूषण के प्रमुख कारण) :-

  1. कारखानों से निकलने वाले अपशिष्ट पदार्थों को नदियों, तालाबों आदि ने मिलाया जाता है जिससे ये अपशिष्ट पदार्थ जल को प्रदूषित कर देते हैं
    उद्योगों से प्रतिदिन हजारों टाइम अपशिष्ट पदार्थ तथा कचरा निकलता है यह उद्योग द्वारा आसपास के नदी तथा तालाब में डाल दिया जाता है जिससे वह जल को प्रदूषित करता हैं
  2. यह नदियां समुद्र में जाकर मिलती है तथा नदियों के माध्यम से यह अपशिष्ट पदार्थ जैसे प्लास्टिक, कीटनाशक, उर्वरक समुद्र तक पहुंच जाते हैं जिससे समुद्र का जल भी प्रदूषित हो जाता है
  3. समुद्री यातायात के दौरान होने वाले ईंधन के दोहन के कारण भी बड़ी मात्रा में समुद्री जल प्रदूषित होता है
  4. समुद्र में होने वाले विभिन्न नाभिकीय परीक्षाओं के कारण भी समुद्र का जल प्रदूषित हो जाता है और इस प्रदूषित जल के कारण यह समुद्र में रहने वाले वनस्पति तथा जीव-जंतु नष्ट होते जा रहे हैं
  5. मानव आबादी बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है मनुष्य द्वारा घरों से निकलने वाला है अपशिष्ट जल नालियों के माध्यम से नदियों तथा तालाबों में छोड़ दिया जाता है जिससे नदियों तथा तालाबों काजल की प्रदूषित हो रहा है
  6. मनुष्य द्वारा नदियों तथा तालाबों में कपड़े धोने तथा पशुओं को नहलाने आदि दैनिक कार्यों के कारण भी नदियों तथा तालाबों का जल प्रदूषित हो जाता है
  7. कई नगर तथा महानगर नदियों के किनारे स्थित होते हैं जिससे किसी मनुष्य के मृत्यु के पश्चात उसके शव को नदियों में बहा दिया जाता है जिसके पश्चात वह शव पानी में सडकर जल को प्रदूषित कर देता है

Jal pradushan ke prabhav (जल प्रदूषण के दुष्प्रभाव):- 

  1. कारखानों से निकलने वाला दूषित जल नदियों में जाकर मिलता है तो इस दूषित जल के कारण नदियों में रहने वाले सूक्ष्म तथा वनस्पतियां नष्ट होती जा रही है
  2. दूषित जल पीने के कारण मनुष्य के स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है दूषित जल पीने के कारण है हैजा, चेचिस आदि खतरनाक बीमारियां हो जाती है
  3. समुद्र में होने वाले जल प्रदूषण के कारण अनेक समुद्री वनस्पति या समुद्री जीव जंतु नष्ट होते जा रहे हैं और उनका जीवन संकट में आ गया है

Jal pradushan rokne ke upay (जल प्रदूषण रोकने के उपाय) :-

  1. कारखानों से निकलने वाले अपशिष्ट जल को उचित स्थान निष्पादन का प्रबंध करना चाहिए तथा कारखानों से निकलने वाले अपशिष्ट पदार्थ तथा कचरा नदी नालों में फेंकने पर रोक लगाना चाहिए
  2. कारखानों से निकलने वाले विभिन्न प्रकार के कार्बनिक पदार्थों का उचित निष्पादन किया जाना चाहिए
  3. समुद्र में होने वाले विभिन्न परीक्षणों पर रोक लगाई जानी चाहिए
  4. घरेलू उपयोग के बाद निकलने वाले अपशिष्ट जल को नदी नालों में छोड़ने के स्थान पर उसका उचित प्रबंधन किया जाना चाहिए
  5. सरकार द्वारा मनुष्य को जागरूक करने के लिए विशेष प्रकार के कार्यक्रम चलाना चाहिए जिससे भी जनसाधारण को सचेत कर सके कि किस प्रकार जल प्रदूषण को रोका जा सकता है

Read Also :- 

Use of May Have in Hindi

Use of May in Hindi

Leave a Comment