मलेरिया क्या है ? मलेरिया के लक्षण और इलाज

Malaria Symptoms, treatment, and prevention

मलेरिया क्या है?

मलेरिया एक वाहक-जनित संक्रामक रोग है, जो मादा एनोफ़िलेज़ (Anopheles) मच्छर की वजह से होती है। हर वर्ष यह करोड़ लोगों को मलेरिया प्रभावित करता है और लाखो लोगों की मृत्यु का कारण भी बनता है | मलेरिया के रोगाणु दिखने में इतने अधिक सूक्ष्म होते है की हम इन्हें अपनी आँखों से सीधे तौर पे देख नहीं सकते।

Malaria Symptoms, treatment, and prevention

मलेरिया के लक्षण : अब अगर बात की जाये मलेरिया की पहचान की तो इसमें रोगी को तेज बुखार होता है जो इसका प्रमुख लक्षण है जो सामान्य बुखार से अलग होता है मलेरिया में रोगी को रोजाना या एक दिन छोड़कर बहुत तेज बुखार आता है और साथ ही साथ ही शरीर में कँप कँपी, पसीना आना, सिर दर्द होना , मांसपेशियों में दर्द होना, जी मचलना और उल्टी होना इत्यादि । कभी-कभी इसके लक्षण हर 48 से 72 घंटे में दोबारा दिखायी देते हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है कि एक व्यक्‍ति को कौन-से परजीवी की वजह से मलेरिया हुआ है और वह कब से बीमार है।

 

मलेरिया से अपना बचाव कैसे कर सकते हैं ?

  • मलेरिया मादा एनोफ़िलेज़  मच्छर  (Anopheles mosquito) के काटने से होता है, इसलिए अपने घर के आस पास मलेरिया पैदा करने वालों मच्छरों को पनपने न दें।
  • घर अंदर और आस पास पानी का जमाव न होने दें। जमे हुए पानी की निकासी तुरंत करवाएं।
  • बर्तन में हमेशा पानी को ढककर रखें और ख़ाली बर्तन को हमेशा उल्टा रखें।
  • मच्छर भगाने के लिए फ़ॉगिंग (कीटनाशक का छिड़काव) ज़रूर करवाएं।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *