Vakya Ka Vargikaran | वाक्यों का वर्गीकरण परिभाषा, भेद और उदाहरण

Friends आप Vakya Ka Vargikaran के बारे में सीखना चाहते है तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं, क्योंकी इस आर्टिकल में हम आपको वाक्यों का वर्गीकरण परिभाषा, भेद और उदाहरण के प्रयोग के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं आप इस आर्टिकल को पुरा ध्यान पूर्वक पढ़ते है तो वाक्य के वर्गीकरण के प्रयोग को लेकर आपके मन में जो भी डाउट ही सभी क्लियर हो जायेगे, तो आइए शुरू करते है :-

Vakya Ka Vargikaran

Vakya Ka Vargikaran

वाक्यों का वर्गीकरण निम्नलिखित दो आधार पर किया जाता है :-
(1) अर्थ के आधार पर
(2) रचना / बनावट के आधार पर

रचना के आधार पर वाक्य के 3 ( तीन ) भेद होते हैं :-
1.) सरल वाक्य
2.) संयुक्त वाक्य
3.) मिश्रित वाक्य

वाक्यों का वर्गीकरण की परिभाषा :-

1.) सरल वाक्य :- जिन वाक्यों में केवल एक उद्देश्य एक विधेय होता है सरल वाक्य कहलाते है
Note :- कर्ता को उद्देश्य बाकी सभी को विधेय कहते है

उदाहरण :- राम बाजार जाता है
कनिष्क पढ़ाई कर रहा है
संदीप मोबाइल चला रहा है
विक्की क्रिकेट खेल रहा है

2.) संयुक्त वाक्य :- जिन वाक्यों में दो या दो से अधिक सरल वाक्य होते हैं और आपस में और, एवं, परंतु, तथा, लेकिन, किन्तु, पर आदि शब्द से जुड़े होते हैं तब संयुक्त वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- मजदूर मेहनत करता है लेकिन वह उसके लाभ से वंचित रहता है
प्रिय बोलो पर असत्य नहीं
राम घर गया और उसने मां को देखा

3.) मिश्रित वाक्य :- ऐसा वाक्य जिसमें एक सरल वाक्य के साथ एक या एक से अधिक आश्रित उपवाक्य भी जुड़े हुए होते हैं उस वाक्य को मिश्रित वाक्य करते हैं
अर्थात आश्रित उपवाक्य से मिलकर बना वाक्य मिश्रित वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- जो लड़का वहां खड़ा है वह मेरा दोस्त है
मैं जानता हूं तुम परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाओगे

Note :- ऊपर दिए गए उदाहरण में आप देख सकते हैं इनमें 2 वाक्य है जिनमें से एक प्रधान वाक्य है तथा एक आश्रित उपवाक्य है

Vakya Ka Vargikaran :- अर्थ के आधार पर वाक्य के आठ भेद या प्रकार होते है

  1. प्रश्नवाचक वाक्य
  2. आज्ञावाचक वाक्य
  3. इच्छावाचक वाक्य
  4. संकेतवाचक वाक्य
  5. संदेहवाचक वाक्य
  6. विस्मयादिबोधक वाक्य
  7. निषेधवाचक वाक्य
  8. विधानवाचक वाक्य

1.) प्रश्नवाचक वाक्य :- जिन वाक्यों में प्रश्न पूछने का बोध हो तो वह प्रश्नवाचक वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- तुम कहां जा रहे हो ?
तुम क्यों रो रहे हो ?
वह क्या कर रहा है ?
क्या आज राज स्कूल गया था ?

2.) आज्ञावाचक वाक्य :- जिन वाक्यों में प्रार्थना, आज्ञा, आदेश और उपदेश आदि का बोध हो, वह आज्ञावाचक वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- तुम यहां आओ |
पिंकी दरवाजा खोलो |
राम पढ़ाई करो |
सनी खाना खाओ |

3.) इच्छावाचक वाक्य :- जिन वाक्य में इच्छा, शुभकामना, आशीर्वाद आदि का बोध हो तो वह इच्छावाचक वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- ईश्वर करे आप पुलिस बन जाओ |
भगवान करे तुम्हारी उम्र लंबी हो |
ईश्वर करे तुम अच्छे नंबरों से पास हो जाओ |

4.) संकेतवाचक वाक्य :- जिन वाक्यों में संकेत या संभावना का बोध हो तो वह संकेतवाचक वाक्य कहलाता है
अर्थात पहले क्रिया का होना दूसरी क्रिया पर निर्भर हो तो वह संकेतवाचक वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- यदि कठिन परिश्रम करते तो पास हो जाते |
अगर वर्षा होती तो अच्छी फसल होती |

5.) संदेहवाचक वाक्य :- जिन वाक्यों में संदेह या संभावना होने का बोध हो तो वह संदेहवाचक वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- शायद रात में बारिश होगी |

6.) विस्मयादिबोधक वाक्य :- आश्चर्य व्यक्त करने वाले भाव को विस्मयादिबोधक वाक्य करते हैं

उदाहरण :- वाह ! कितना सुन्दर दृश्य है |

7.) निषेधवाचक वाक्य :- जैसा किसके नाम से ही स्पष्ट होता है ऐसे वाक्य जिनमें किसी कार्य के ना करने या ना होने का बोध होता है निषेधवाचक वाक्य कहलाता है

उदाहरण :- मैं स्कूल नहीं जाऊंगा
राम पढ़ाई नहीं कर रहा है
मैंने खाना नहीं खाया है
नेहा आज कोचिंग नहीं आई थी

8.) विधानवाचक वाक्य :- बाकी जिनमें किसी कार्य के होने या किसी के अस्तित्व का बोध होता है विधानवाचक वाक्य कहलाते हैं
अर्थात वह वाक्य जिनसे हमें किसी प्रकार की जानकारी प्राप्त होने का बोध होता है विधान वाचक वाक्य कहलाते हैं

उदाहरण :- प्रिया ने खाना खा लिया है
अमेरिका एक देश है
वह स्कूल चला गया है
लव, कुश के पिता का नाम राम है

निवेदन :- Friends अगर आपको Vakya Ka Vargikaran वाक्यों का वर्गीकरण परिभाषा, भेद और उदाहरण  के बारे में लिखा गया ये आर्टिकल पसंद आया हो तो हमे Comment के माध्यम से जरूर बताये और इसे अपने Friends के साथ Share जरुर करे.

Read Also :-

Leave a Comment